आइए आवारगी के साथ बंजारापन सर्च करें

05 February 2008

स्वागत करें एक नए ब्लॉग का

आईए स्वागत करें एक नए ब्लॉग "विरोध" का

यह ब्लॉग है इंडियन एक्स्प्रेस ग्रुप के पत्रकार श्री अंबरीश कुमार का। अपने इस ब्लॉग के बारे में अंबरीश कुमार का कहना है कि वे इस के माध्यम से जन आंदोलन और सामाजिक सरोकार के सवाल उठाना चाहेंगे।

छात्र जीवन में जेपी आंदोलन से प्रभावित रहे अंबरीश कुमार सालों से पत्रकारिता में सक्रिय है और दिल्ली, उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़ में जनसत्ता में कार्यरत रहे हैं। वर्तमान में लखनऊ जनसत्ता के प्रभारी अंबरीश कुमार छत्तीसगढ़ में प्रभारी के रूप में रायपुर में जनसत्ता लॉंच कर चुके हैं।

मुझे याद है सन 2002 में रायपुर में अंबरीश जी के निर्देशन और मार्गदर्शन में जनसत्ता ने लॉंच होने के बाद से ही तत्कालीन जोगी सरकार की नाक में ऐसा दम कर दिया था कि तब जनसत्ता के रायपुर दफ्तर में कथित जोगी समर्थकों ने हमला बोल प्रिंटिंग रूकवाने की कोशिश की थी।


अंबरीश जी की पत्नी सविता कुमार ने खबरों पर आधारित एक वेब पोर्टल "जनादेश" भी प्रारंभ किया है जो कि मुख्यत: राजनैतिक खबरों पर केंद्रित है।


अंबरीश जी का शुभकामनाओं के साथ स्वागत है हिंदी ब्लॉगजगत में

9 टिप्पणी:

Shiv Kumar Mishra said...

अम्बरीश जी का स्वागत है. सवाल जरूर उठाईये, हो सकता है उत्तर मिल जाए.

Mired Mirage said...

अंबरीश जी स्वागत है आपका !
घुघूती बासूती

Gyandutt Pandey said...

अम्बरीश जी से वैचारिक सहमति कुछ विषयों पर शायद न बन पाये पर ब्लॉग जगत पर विचारवैविध्य का बहुत स्वागत!

Raviratlami said...

जनादेश देखा... मुँह से बेसाख्ता निकला - हे! भगवान, एक और हिन्दी फ़ॉन्ट! अब तक तो देखा नहीं था ये फ़ॉन्ट.

यूनिकोड में होता तो ठीक रहता :), पर उनके अपने केल्कुलेशन्स भी होंगे - शर्तिया :)

अजित वडनेरकर said...

यहां तो हर आगत का स्वागत है। संयोग से आज हम अतिथि पर ही लिख रहे है। मगर यहां कोई अतिथि नहीं होता ।

हर्षवर्धन said...

स्वागत है।

ambrish said...

gyandutt ji se asahamati ki koi sambhavana nazar nahi aa rahi-ambrish

anitakumar said...

आइए अंबरीश जी आप का स्वागत है

Rajesh Roshan said...

अम्बरीश जी का स्वागत है

Post a Comment

आपकी राय बहुत ही महत्वपूर्ण है।
अत: टिप्पणी कर अपनी राय से अवगत कराते रहें।
शुक्रिया ।