आइए आवारगी के साथ बंजारापन सर्च करें

12 May 2008

ब्लॉग बिरादरी में एक और ब्लॉग का स्वागत

आवारा बंजारा के पाठक वरिष्ठ पत्रकार और रायपुर प्रेस क्लब के अध्यक्ष अनिल पुसदकर की लेखनी से मोहरे नहीं जवान मर रहे हैं जनाब! के मार्फ़त परिचित हो ही चुके हैं। अनिल 19 सालों से पत्रकारिता में हैं। युगधर्म से शुरु हुआ उनका पत्रकारिता का सफर दैनिक भास्कर, अमृत संदेश, जनसत्ता (रायपुर), नेशनल लुक और जी टीवी में होते हुए जारी ही है, लेकिन हां अब उनके अपने शब्दों में वे अब "अखबार मालिकों के पास बंधक रखी कलम को छुड़वा चुके हैं"।


दिन ब दिन ब्लॉग की बढ़ती महत्ता से परिचित होकर प्रेस क्लब अध्यक्ष महोदय भी अब ब्लॉग जगत में कूद पड़े हैं। धीरे-धीरे कोशिश कर रहे हैं कि ब्लॉग जगत और उसकी तकनीकी जटिलताओं को समझ सकें पर मूल उद्देश्य तो लिखना और पढ़ना ही है तो आईए स्वागत करें अनिल पुसदकर के ब्लॉग
"अमीर धरती गरीब लोग" का।


पुसदकर जी के लिए हमारी शुभकामनाएं

9 टिप्पणी:

mamta said...

अनिल जी का स्वागत है।

Shiv Kumar Mishra said...

स्वागत है अनिल जी का....हिन्दी चिट्ठाकारिता उनके आने से समृद्ध होगी, ऐसी आशा है.
वैसे संजीत, एक बात बताओ कितने लोगों को ब्लॉगर बना डाला?...:-)

KrRahul said...

Good to know about him...

Udan Tashtari said...

स्वागत है अनिल जी का और आपका आभार.

भुवनेश शर्मा said...

स्‍वागत है अनिलजी का.

हर्षवर्धन said...

बहुत अच्छे। कड़ी लंबी हो रही है। स्वागत है।

दीपक said...

अनिल जी का स्वागत है !!

महामंत्री (तस्लीम ) said...

haardik swagat hai anil ji ka.

pallavi trivedi said...

अनिल जी का स्वागत है !!

Post a Comment

आपकी राय बहुत ही महत्वपूर्ण है।
अत: टिप्पणी कर अपनी राय से अवगत कराते रहें।
शुक्रिया ।