आइए आवारगी के साथ बंजारापन सर्च करें

09 July 2010

पाठकों को समर्पित

पिछले कुछ दिनों से व्यस्तता कुछ ज्यादा ही बढ़ी रही। नाह, महज काम में नहीं। दरअसल बचपन के मित्र बापी की शादी थी।  आवारा बंजारा के पाठक बापी से परिचित हैं ही। बापीयॉटिक तो नहीं पर बापी के बहाने सीरिज की पोस्ट के माध्यम से।

बीते शनिवार को उसकी शादी हुई। सो बारात में जाना फिर दूसरे दिन नौकरी बजाकर फिर सोमवार को उसके गांव रिसेप्शन में जाना। इस बीच काम के लय को भी बनाए रखना। यही सब चलता रहा। बापी सीरिज की पोस्टों की समाप्ति उसकी शादी वाली पोस्ट से करनी बाकी है।

इसी दौरान रविवार को एक सूचना मिली। आश्चर्य भरी सूचना कि हिंदी ब्लॉगिंग के लिए चौथा सृजनगाथा सम्मान आवारा बंजारा को दिया जा रहा है।  आश्चर्य इसलिए हुआ कि अपन को आलोचनाएं झेलने की आदत तो रही है सम्मान की नहीं।

मंगलवार को रायपुर प्रेस क्लब में वरिष्ठों के बीच वरिष्ठों के हाथों सम्मान प्राप्त हुआ।  यह सम्मान आवारा बंजारा से ज्यादा आवारा बंजारा के पाठकों का है।
आभार वेबपत्रिका सृजनगाथा का, आभार  जयप्रकाश मानस जी समेत समूचे सृजनगाथा परिवार का जिन्होंने इस अकिंचन को इस सम्मान के योग्य समझा।

15 टिप्पणी:

दिवाकर मणि said...

चौथा सृजनगाथा सम्मान आपके ब्लॉग को दिए जाने पर मेरी ओर से कोटिशः हार्दिक शुभकामनाएँ...आप व आपका यह ब्लॉग दिनानुदिन प्रगति शिखर को छूए...इसी शुभाशंसा के साथ...

anuradha srivastav said...

बहुत-बहुत बधाई........

आचार्य उदय said...

सार्थक लेखन।

सतीश सक्सेना said...

आप इस योग्य हैं , हार्दिक शुभकामनायें !

राज भाटिय़ा said...

अजी हमारी तरफ़ से आप को हार्दिक शुभकामनाएँ ओर बहुत बहुत बधाई

Pankaj Upadhyay (पंकज उपाध्याय) said...

badhai sweekar karen bhai saheb.. aise hee saare awards maarte jayen..

संजीव तिवारी .. Sanjeeva Tiwari said...

समय निकाल कर ब्‍लॉग में अपनी सक्रियता बढ़ावें.
सम्‍मान के लिए पुन: स्‍नेह सहित हार्दिक शुभकामनायें !

प्रवीण पाण्डेय said...

आपको ढेर बधाईयाँ। योग्यता जब दिखती नहीं, तभी आती है।
मैं ध्यान लगा कर क्यों बैठूँ, मन तो मेरा आवारा हैं,
बचपन से भाता है मुझको बंजारे सा जीवन जीना ।

प्रवीण पाण्डेय said...

मैं ध्यान लगा कर क्यों बैठूँ, मन तो मेरा है आवारा,
बचपन से भाता है मुझको बंजारे सा जीवन जीना ।

The Godfather said...

badhai ho chacha!!! Aur baapi chacha ko bhi badhai de dena!

शरद कोकास said...

बधाई हो बापी को शादी की और आपको सम्मान की ।

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ said...

इस सम्मान हेतु आर्दिक बधाईयाँ।
................
पॉल बाबा का रहस्य।
आपकी प्रोफाइल कमेंट खा रही है?.

उठा पटक said...

आपको ढेर सारी बधाईंया!

Halke-Fulke said...

sanjeet bhai..tokna bharkar badhai....

Divya said...

iss samman ke liye aapko badhai.....aur aapke mitr ko bhi shadi ki dheron badhaiyan.

Post a Comment

आपकी राय बहुत ही महत्वपूर्ण है।
अत: टिप्पणी कर अपनी राय से अवगत कराते रहें।
शुक्रिया ।