आइए आवारगी के साथ बंजारापन सर्च करें

10 December 2010

सोनिया के जन्मदिन पर कटा 'तिरंगा'


 वाराणसी में हुए धमाके के बाद संवेदनशीलता दिखाते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने नौ दिसंबर को अपना जन्मदिन नहीं मनाने की घोषणा भले ही कर दी थी लेकिन छत्तीसगढ़ के कांग्रेसियों पर इसका कोई असर नहीं पड़ा। आलाकमान का जन्मदिन मनाने के उत्साह के अतिरेक में छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के कांग्रेसियों ने तब हद कर दी जब उन्होंने राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे के रुप में बना हुआ केक काटा और मजे से खाया भी।

छत्तीसगढ़ के कांग्रेसियों का कारनामा

सोनिया के जन्मदिन पर शहर कांग्रेस अध्यक्ष इंदरचंद धाड़ीवाल द्वारा बनवाए गए तिरंगे केक में चक्र की भी आकृति साफ दिखाई दे रही थी। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री जिन्होंने केक काटा वे तो साफ कहते हैं कि मैं कुछ नहीं जानता, केक आया, काटे और खाए। बाकी शहर अध्यक्ष धाड़ीवाल जानें। वहीं शहर कांग्रेस अध्यक्ष से जब उनका पक्ष लेने के लिए फोन पर संपर्क किया गया तो उन्होंने हंस कर बधाई तो ले ली लेकिन जब उनसे केक के तिरंगे की प्रतिकृति होने और उस पर चक्र भी होने के बाबत पूछा गया तो उन्होंने इस बात से साफ इंकार कर दिया।

 प्रदेश अध्यक्ष भी कर चुके हैं तिरंगा का अपमान
  इससे पहले भी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष धन्नेद्र साहू पर एक वरिष्ठ कांग्रेस नेता के निधन पर तिरंगा लपेट कर श्रध्दजंलि दिए जाने पर हंगामा हुआ था। इस मामले में न्यायालय के आदेश पर कोतवाली पुलिस ने राष्ट्रीय ध्वज का अपमान करने के मामले में अपराध कायम कर लिया था। इस गिरफ्तारी को लेकर कांग्रेस ने कोतवाली सीएसपी मनीषा ठाकुर के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया था। बहारहाल इस मामले में दोषी कांग्रेस नेताओं की अब तक गिरफ्तारी तो नहीं हो पाई। इस बीच शहर कांग्रेस अध्यक्षइंदरचंद धाड़ीवाल ने एक बार फिर तिरंगा का अपमान कर दिया है।

पांच लाख इनाम दे दूंगा
 हो ही नहीं सकता, केक में चक्र है ही नहीं, जिसने बनवाकर लाया है वो भी कह रहा है कि नहीं है। अगर चक्र होगा तो मैं पांच लाख रुपए देने को तैयार हूं।  अगर चक्र है भी तो आप फोटो में से उसे डिलीट करवा दीजिए।
इंदरचंद धाड़ीवाल
शहर कांग्रेस अध्यक्ष

केक आया, काटे और खा गए, बाकी धाड़ीवाल जाने
इस बारे में मैं कुछ नहीं जानता। केक आया, हमने काटा और खा गए, बस। केक शहर कांग्रेस अध्यक्ष धाड़ीवाल ने मंगवाया था।
सुभाष शर्मा
प्रदेश कांग्रेस महामंत्री


कार्रवाई होनी चाहिए
 राष्ट्रध्वज का अपमान करना कांग्रेसियों की परंपरा बन गई है।  केक में राष्ट्रीय ध्वज की प्रतिकृति बनवाना राष्ट्रध्वज का सरासर अपमान है।  ऐसा करने वालों पर कार्रवाई होनी चाहिए।
अशोक पांडे
शहर भाजपा अध्यक्ष

यह राष्ट्रीय ध्वज का अपमान होने के कारण अपराध की श्रेणी में आता है और यह एक गैरजमानती अपराध है।

अमित बैनर्जी
अधिवक्ता
   

7 टिप्पणी:

ज्ञानदत्त पाण्डेय Gyandutt Pandey said...

बधिक सम्मेलन का चित्र सटा दिया है?

Rahul Singh said...

देश-प्रेम का जज्‍बा और तिरंगे का सम्‍मान, प्रशंसनीय है लेकिन यह मर्यादा सहित ही शोभायमान होती है.

tarun said...

aise netaon ko to sare-aam jute marne chahiye

VIJAY KUMAR VERMA said...

कांग्रेस के इन नेताओं के लिए सोनिया ज्यादा महत्वपूर्ण हैं ,न कि देश या तिरंगा यह बहुत ही शर्मनाक कार्य है लेकिन क्या किसी को शर्म आयेगी ?

ali said...

भक्तों ने अपने आराध्य चुन लिए हों तो शेष सब पर कमेन्ट व्यर्थ हो जाता है !

Anonymous said...

संजीत जी,

क्या ·हें इन मीडिया ·े छपास रोगियों ·े बारे में। फोटो और नाम छपाने ·ी होड़ में इन्हें ·े· ·ा रंग भी नहीं दिखा। तरस आता है इन·े सामान्य चेतना पर। हालां·ि गलती सबसे होती है, ले·िन यारों इतने भी नादान न बनो ·ि लोग आपमें अंतर महसूस न ·रे स·ें।

गोविंद पटेल

पत्र·ार

रायपुर

जितेन्द्र ‘जौहर’ Jitendra Jauhar said...

अच्छे ब्लॉग के सच्चे ब्लॉगर हैं आप...बधाई!

Post a Comment

आपकी राय बहुत ही महत्वपूर्ण है।
अत: टिप्पणी कर अपनी राय से अवगत कराते रहें।
शुक्रिया ।