आइए आवारगी के साथ बंजारापन सर्च करें

24 March 2010

रामनवमीं पर कुछ तस्वीरें, नजारे आस्था के

रामनवमीं के मौके पर एक छायाकार की नजर


भगवान राम-सीता व लक्ष्मण का विशेष श्रृंगार




कन्या भोज




जंवारा विसर्जन के लिए जाती महिलाएं



सांग और बाना धारण किए श्रद्धालुओं का हुजुम



……आस्था…॥




और सबसे  अंत में इन सबके कारण हुआ ट्रैफिक जाम

(सभी तस्वीरें : राजीव सोनकर)

13 टिप्पणी:

कृष्ण मुरारी प्रसाद said...

अच्छी तस्वीरें........
.........
विलुप्त होती... .....नानी-दादी की पहेलियाँ.........परिणाम..... ( लड्डू बोलता है....इंजीनियर के दिल से....)
http://laddoospeaks.blogspot.com/2010/03/blog-post_24.html

मनोज कुमार said...

रामनवमी की शुभकामनायें!

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

लोकजीवन में जा कर ही हम जान सकते हैं हमारी संस्कृति के तत्वों को। यह सब यहाँ हाड़ौती में भी अभी जीवित है।

राज भाटिय़ा said...

इन सुंदर चित्रो के लिये बहुत बहुत धन्यवाद, आप ने आस्था के सही दर्शन करवा दिये, जाम तो हमेशा लगा ही रहता है

Udan Tashtari said...

आभार इन तस्वीरों का.

रामनवमीं की मंगलकामनाएँ.

Anil Pusadkar said...

बहुत बढिया संजीत,आस्था का सच्चा चित्रण,कोई औ होता तो रिकार्ड बनाने की ओर मुड़ जाता।आखिर छत्तीसगढ भगवान रामचन्द्र जी ननिहाल है यंहा उनके लिये आस्था नही होगी तो फ़िर किसके लिये होगी।बधाई हो तुमको,तुम जागे तो सही।अब दोबारा गायब मत हो जाना,हद है आवारगी की।

डॉ महेश सिन्हा said...

आज ही समाचार पढ़ा की की एक व्यक्ति ने जितने छेदन(101 सांग) किए थे अपने शरीर में यह एक वर्ड रेकॉर्ड हो सकता है .

ज्ञानदत्त पाण्डेय Gyandutt Pandey said...

सुन्दर! जंवारा विसर्जन क्या होता है मित्र?!

preeti malviya said...

RAM NAVAMI ki hardik shubhkamnaye..

RAM JI par likhi ye panktiya mujhe behad pasand hai apne bhi suni ho shayad..........

RAM HI TO KARUNA ME HAI,SHANTI ME RAM HAI,RAM HI HAI EKTA ME,
PRAGTI ME RAM HAI,RAM BAS BHAKTO NAHI SHATRU KI BHI CHINTAN ME HAI,DEKH TAJ KE PAP RAM TERE MAN ME HAI,RAM TERE MAN ME HAI, RAM TERE TAN ME HAI............
RAM TO GHAR GHAR ME HAI,RAM HAR AANGAN ME HAI
MAN SE RAWAN JO NIKALE RAM USAKE MAN ME HAI ..
MAAN SE RAWAN JO NIKLAE RAM USAKE MAAN ME HAI..
Preeti

anitakumar said...

तस्वीरें देख कर पता चलता है कि आप को रामनवमी की छुट्टी थी। तो छुट्टी मजेदार रही?

Suman said...

nice

भूतनाथ said...

रामनवमी पर आपने सबको जिमाया
और हमको कुछ भी नहीं खिलाया...
ठीक है आप भी क्या याद करेंगे
अगर हमने आपको नहीं सताया......
और तो और तस्वीरों में भी नहीं हैं हम.....
जबकि सब जगह उड़ते रहते हैं हम !!
हा...हा...हा...हा...दिमाग तो मेरा भी खराब हो गया......मगर हाँ मज़ा आ गया......

Anonymous said...

Hi - I am certainly glad to discove this. Good job!

Post a Comment

आपकी राय बहुत ही महत्वपूर्ण है।
अत: टिप्पणी कर अपनी राय से अवगत कराते रहें।
शुक्रिया ।