आइए आवारगी के साथ बंजारापन सर्च करें

14 March 2009

जय हो

एक मित्र द्वारा फॉरवर्डेड ई-मेल पर मिले कुछ कार्टून्स पर नज़र डालिए






















बाद में अजीत वडनेरकर जी ने जानकारी दी कि यह कार्टून्स दैनिक भास्कर भोपाल संस्करण के हरिओम जी द्वारा बनाए गए हैं।
जय हो

12 टिप्पणी:

संगीता पुरी said...

बहुत सही ... हर जगह एक ही चर्चा ... जय हो !! जय हो !!

विष्णु बैरागी said...

तीखे, चुटकियां भरने वाले, धारदार कार्टून।

समयचक्र - महेन्द्र मिश्र said...

बहुत बढ़िया . भाई जी स्लिम शब्द तो अब हर जगह फिट किये जा सकते है जैसे स्लिम बीबी. हा हा हा जय हो

ज्ञानदत्त । GD Pandey said...

जय होगी स्लम की ही।

इष्ट देव सांकृत्यायन said...

जय हो .. जय हो.. जय हो ...

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

जय हो!
सभी शानदार!

Udan Tashtari said...

सही ...... जय हो !! जय हो !!

Sanjeet Tripathi said...

ई-मेल पर अजीत वडनेर जी ने कहा…

' भोपाल भास्कर के हरिओम द्वारा बनाए गए ये कार्टून इन दिनों खूब फार्वर्ड किये जा रहे हैं। '

दर्पण साह 'दर्शन' said...

cartoons aur vyang se jo baat kahi ja sakti hai wo seedhe lafzon main nahi . AUr yad ki bhi jati hai to wo doosre pax ko chubne ka bhay hota hai.
...ap cartoon kshetra main parangat lagte hain....

...balki hain!!


"Slum Dog Karorpati bana na bane, apne to karoron ki baat, baat - baat main keh di..."
:)

दीपक said...

jai ho bhai !! jai ho ............?

KrRahul said...

स्लम म्यूजिक बहुत अच्छा था :)

Dr. Chandra Kumar Jain said...

कमाल के कार्टून हैं भाई
प्रस्तुति बहुत रास आई.
=====================
डॉ.चन्द्रकुमार जैन

Post a Comment

आपकी राय बहुत ही महत्वपूर्ण है।
अत: टिप्पणी कर अपनी राय से अवगत कराते रहें।
शुक्रिया ।